डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें | Distance Learning Se Graduation Kaise Krein

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें | Distance Learning Se Graduation Kaise Krein | डिस्टेंस लर्निंग क्या है | डिस्टेंस लर्निंग के क्या-क्या फायदे हैं

क्या आपको पता है दोस्तों कि डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें? अगर आपको नहीं पता तो निराश होने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि इस आर्टिकल में आपको डिस्टेंस लर्निंग से जुड़ी हर एक जानकारी दी जाएगी। कई सारे विद्यार्थी ऐसे होते हैं जो 12वीं के बाद काम धंधा में लग जाते हैं और अपने परिवार के लिए काम करना शुरू कर देते हैं तो ऐसे में उन लोगों के लिए रेगुलर क्लास कर पाना बहुत मुश्किल होता है

इसलिए इन सब बातों को मध्य नजर रखते हुए भारत सरकार ने ऐसी शिक्षा व्यवस्था का निर्माण किया है जिसमें विद्यार्थी कहीं से भी रहकर अपना ग्रेजुएशन पूरा कर सकते हैं। जैसा कि आपको पता होगा दोस्तों कि भारत एक गरीब देश है जिसमें अधिकतर गांव में ऐसे विद्यार्थी रहते हैं जिनको अपने परिवार की परवरिश करने के लिए कोई नौकरी करना पड़ता है 

तो ऐसी स्थिति में उनके लिए रोज कॉलेज जा पाना आसान नहीं होता है। आज भारत में कई लाख विद्यार्थी डिस्टेंस लर्निंग से अपना ग्रेजुएशन पूरा कर रहे हैं और डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कंप्लीट करना पूरी तरह से लीगल है तथा आप डिस्टेंस लर्निंग के ग्रेजुएशन सर्टिफिकेट से भी आप कहीं भी प्राइवेट या सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने पर मिले जाने वाला सर्टिफिकेट और कोई दूसरे कॉलेज से ग्रेजुएशन करने पर मिले जाने वाला सर्टिफिकेट में समान मान्यता मिलता है। अब हम आपको बताएंगे कि डिस्टेंस लर्निंग क्या होता है? डिस्टेंस लर्निंग के क्या-क्या फायदे होते हैं? डिस्टेंस लर्निंग कौन से कॉलेज से करना सही है? भारत में डिस्टेंस लर्निंग के लिए कौन कौन से कॉलेज हैं? इन सभी प्रश्नों का उत्तर आपको इस आर्टिकल में देखने को मिल जाएगा तो आप अंत तक बने रहे।

डिस्टेंस लर्निंग क्या है— What Is Distance Learning In Hindi

जैसा कि आपको पता ही होगा दोस्तों की डिस्टेंस लर्निंग और डिस्टेंस एजुकेशन का मतलब एक ही होता है। डिस्टेंस लर्निंग में उस तरह के विद्यार्थी ग्रेजुएशन या फिर दूसरे प्रकार का कोर्स करते हैं जो रेगुलर कॉलेज नहीं जाना चाहते हैं। अगर आप कहीं पर काम करते हैं और रोज-रोज कॉलेज नहीं जा सकते तो आपको डिस्टेंस लर्निंग सही ग्रेजुएशन पूरा करना चाहिए क्योंकि डिस्टेंस लर्निंग में कहीं से भी ग्रेजुएशन पूरा किया जा सकता है और डिस्टेंस लर्निंग में हमें रोज-रोज कॉलेज जाने की कोई जरूरत नहीं होती।

लेकिन अगर डिस्टेंस लर्निंग के दौरान कोई जाम होता है तो इसके लिए आपको कॉलेज जाना ही पड़ता है। अगर कोई स्टूडेंट घर पर बैठकर है ग्रेजुएशन पूरी करना चाहता है तो डिस्टेंस लर्निंग उसके लिए एक बेस्ट ऑप्शन है क्योंकि डिस्टेंस लर्निंग में कॉलेज जाने की जरूरत नहीं पड़ती है। अब हम आपको बताएंगे कि डिस्टेंस लर्निंग क्यों करना चाहिए —

यह भी पढ़ें-भारत के 10 सबसे अच्छे कॉलेज की लिस्ट

डिस्टेंस लर्निंग क्यों करना चाहिए— Why Should You Do Distance Learning

डिस्टेंस लर्निंग उन विद्यार्थियों के लिए बहुत जरूरी होता है जो घर पर रहकर पढ़ाई करना चाहते हैं क्योंकि डिस्टेंस लर्निंग में प्रतिदिन कॉलेज जाना जरूरी नहीं होता है। डिस्टेंस लर्निंग में यह फायदा रहता है कि अगर आप कहीं पर नौकरी करते हैं या फिर घर में किसी भी तरह का काम करते हैं तो आप डिस्टेंस लर्निंग के मदद से ग्रेजुएशन पूरा कर सकते हैं।

कई सारे स्टूडेंट्स ऐसे होते हैं जिनके परिवार में अधिक दबाव होने के कारण 12वीं के बाद पढ़ाई छोड़ने का मन बना लेते हैं तो इस स्थिति में भी डिस्टेंस लर्निंग उन लोगों के लिए उपयोगी साबित हो सकता है।

अब आपके मन में सवाल आता होगा कि जब आप रोज रोज कॉलेज नहीं जाएंगे तो ग्रेजुएशन के लिए पढ़ाई कैसे पूरी कर पाएंगे तो दोस्तों मैं आपको बताना चाहूंगा कि जब आप डिस्टेंस लर्निंग शिक्षण संस्था में एडमिशन लेते हैं तो डाक के द्वारा आपके होम एड्रेस पर जरूरी पुस्तक को भेज दिया जाता है और आप इसे घर पर ही पढ़ कर तैयार कर सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग मैं आप यूट्यूब के भी मदद से ग्रेजुएशन के कोर्स को कंप्लीट कर सकते हैं। आजकल यूट्यूब का प्लेटफार्म बहुत तेजी से विकास कर रहा है जिसमें स्टूडेंट्स को सबसे अधिक फायदा मिला है क्योंकि स्टूडेंट्स अब बिल्कुल मुफ्त में अपने मनपसंद विषयों को यूट्यूब के माध्यम से आसानी से सीख सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें— How To Do Graduation In Distance Learning

तो दोस्तों अब तक आप नहीं जाना कि डिस्टेंस लर्निंग क्या होता है और डिस्टेंस लर्निंग क्यों करना चाहिए? अब हम आपको बताएंगे कि डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे कंप्लीट किया जाता है? डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन पूरी करने के लिए आपको अपने क्षेत्र का वह शिक्षण संस्था खोजना है जहां पर डिस्टेंस लर्निंग की सुविधा प्रदान की जाती है।

आजकल बहुत सारे कॉलेजों में डिस्टेंस लर्निंग की सुविधा मिलती है जहां पर आप बहुत आसानी से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। डिस्टेंस लर्निंग के लिए आप ऑनलाइन भी एडमिशन करा सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको अपने नजदीकी डिस्टेंस लर्निंग शिक्षण संस्था में जाकर इसके बारे में पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए।

डिस्टेंस लर्निंग के तहत कौनकौन से कोर्स कर सकते हैं

जिस तरह से एक सामान्य कॉलेज में ग्रेजुएशन के डिग्री के लिए कोर्स दिए जाते हैं उसी प्रकार डिस्टेंस लर्निंग के शिक्षण संस्था में भी समान प्रकार के कोर्स होते हैं। अगर डिस्टेंस लर्निंग के प्रमुख कोर्स की बात करें तो इसमें मुख्य रूप से बीए, बीएससी, बीकॉम, एम कॉम का कोर्स देखने को मिलता है।

इन सब कोर्सेज के अलावा भी डिस्टेंस लर्निंग शिक्षण संस्था में कई तरह के कोर्स होते हैं जिनको आप अपने नजदीकी डिस्टेंस लर्निंग शिक्षण संस्था केंद्र से जान सकते हैं। डिस्टेंस लर्निंग शिक्षण संस्था से आर्ट्स और सोशल साइंस के विद्यार्थी अपना ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग के क्याक्या फायदे हैं — What Are The Benefits Of Distance Learning Advantages Of Distance Learning

बेशक डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कंप्लीट करने में बहुत फायदा है क्योंकि इसमें नाही रोज-रोज कॉलेज जाना होता है और ना ही बार बार फीस जमा करना होता है। इसी तरह से डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कंप्लीट करने पर कई सारे फायदे मिलते हैं जिनके बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है —

  • डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कंप्लीट करने पर प्रतिदिन कॉलेज जाने की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • कोई भी छात्र अगर डिस्टेंस लर्निंग शिक्षण संस्था से ग्रेजुएशन कंप्लीट करता है तो वह घर बैठकर अपने एग्जाम्स और अपने पाठ्यक्रम को तैयार कर सकता है।
  • अगर कोई छात्र डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन प्राप्त करके कहीं पर जॉब के लिए अप्लाई करता है तो उसे किसी भी तरह की परेशानी नहीं होती है। 
  • डिस्टेंस लर्निंग करने से छात्रों का समय बच जाता है और वह अपने समय को किसी दूसरे काम में लगा सकता है।
  • अगर कोई छात्रा डिस्टेंस लर्निंग से अपना ग्रेजुएशन पूरा करता है तो उसे किसी दूसरे कॉलेज की अपेक्षा बहुत कम फीस देना होता है।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए बेस्ट यूनिवर्सिटी कौन कौन सा है— Which Is The Best University To Graduate From Distance Learning

अब हम बात करने वाले हैं उन यूनिवर्सिटी के बारे में जिससे डिस्टेंस लर्निंग के तहत ग्रेजुएशन का कोर्स पूरी किया जा सकता है। वैसे तो डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के लिए भारत में कुल 111 संस्थाएं हैं लेकिन उनमें से जो संस्थाएं बहुत प्रसिद्ध है उनके बारे में हम बताने का प्रयास करेंगे —-

1. इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय

2. सिम्बायोसिस सेंटर फॉर डिस्टेंस लर्निंग

3. यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र ओपन यूनिवर्सिटी

4. महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी

5. स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग (दिल्ली विश्वविद्यालय)

6. नेताजी सुभाष ओपन यूनिवर्सिटी

7. मध्य प्रदेश भोज ओपन यूनिवर्सिटी

8. कर्नाटक स्टेट ओपन यूनिवर्सिटी

9. डॉ. भीम राव अंबेडकर ओपन यूनिवर्सिटी

10. तमिलनाडु ओपन यूनिवर्सिटी

निष्कर्ष(Conclusion)

तो दोस्तों हमने इस आर्टिकल में आपको बताया कि डिस्टेंस लर्निंग क्या होता है? डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें? डिस्टेंस लर्निंग के क्या-क्या फायदे होते हैं? डिस्टेंस लर्निंग के लिए कौन कौन से कॉलेज है? डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन क्यों करना चाहिए? इन सभी प्रश्नों का उत्तर आपको विस्तार से बताया गया है जिन्हें आप जानकर डिस्टेंस लर्निंग के बारे में अच्छी नॉलेज रख सकते हैं। तो दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आता है तो इसे आप अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और यदि आप किसी भी प्रकार का प्रश्न करना चाहते हैं तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं। 

Leave a Comment

Your email address will not be published.