गुरु और शिष्य की इस परंपरा की हजारों कहानियां वेद, उपनिषद और पुराणों में मिल जाएगी। शास्त्रों में माता पिता के बाद गुरु को ही सबसे बड़ा दर्जा प्राप्त है।

Learn More

Arrow

प्रथम गुरु कौन? भगवान ब्रह्मा और शिव को इस संसार का प्रथम गुरु माना जाता है। ब्रह्माजी ने अपने मानस पुत्रों को शिक्षा दी तो शिवजी ने अपने 7 शिष्यों को शिक्षा दी जो सप्तर्षि कहलाए।

Learn More

Arrow

शिव ने ही गुरु और शिष्य परंपरा की शुरुआत ‍की थी जिसके चलते आज भी नाथ, शैव, शाक्त आदि सभी संतों में उसी परंपरा का निर्वाह होता आ रहा है। 

Learn More

Arrow

दूसरे गुरु कौन? दत्तात्रेय : शिवजी के बाद सबसे बड़ा गुरु भगवान दत्तात्रेय को माना जाता है। दत्तात्रेयजी ने ब्रह्मा, विष्णु और महेष तीनों से ही दीक्षा और शिक्षा ग्रहण की थी।

Learn More

Arrow

देवताओं के गुरु कौन?: देवताओं के पहले गुरु अंगिरा ऋषि थे। उसके बाद अंगिरा के पुत्र बृहस्पति गुरु बने। उसके बाद बृहस्पति के पुत्र भारद्वाज गुरु बने थे।

Learn More

Arrow

असुरों के गुरु कौन? शुक्राचार्य से पूर्व महर्षि भृगु असुरों के गुरु थे। कई महान असुर हुए हैं जो किसी न किसी के गुरु रहे हैं।

Learn More

Arrow

भगवानों के गुरु कौन? परशुराम के गुरु स्वयं भगवान शिव और भगवान दत्तात्रेय थे। भगवान राम के गुरु ऋषि वशिष्ठ और विश्वामित्र थे।

Learn More

Arrow

महाभारत में गुरु कौन कौन?  महाभारत काल में गुरु द्रोणाचार्य एकलव्य, कौरव और पांडवों के गुरु थे। परशुरामजी कर्ण के गुरु थे।

Learn More

Arrow

लाहड़ी महाशय के गुरु कौन? ऐसा पता है की महावतार बाबा ने आदिशंकराचार्य को क्रिया योग की शिक्षा दी थी और बाद में उन्होंने संत कबीर को भी दीक्षा दी थी।