IPO Full Form in Hindi-आईपीओ क्या है?

IPO Full Form फुल फॉर्म “Initial Public Offering” होता है। आसान भाषा में कहें तो यह एक “प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव” ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक निजी कंपनी अपने शेयरों की बिक्री आम जनता के साथ सार्वजनिक तौर पर बांट सकती है।

इसमे नई कंपनी या कोई भी पुरानी कंपनी हो सकती है जो एक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होने का फैसला करती है और इसलिए यह सार्वजनिक हो जाती है। यह किसी भी कंपनी के सार्वजनिक होने या पब्लिक होने का मतलब को दर्शाता है जिससे अब इस कंपनी के शेयर आम लोगों द्वारा खरीदे या बेचे जाने के लिए जारी किये जा सकते हैं।

जैसा कि नाम से पता चलता है इसका मतलब है कि कंपनी नए फंड जुटाने या शेयर बाजारों में सूचीबद्ध होने के लिए बाजार का रुख कर रही है:-

  • Initial – प्रारंभ
  • Public – आम जनता है,आप, मैं, या कोई भी।
  • Offering – का मतलब कुछ किसी विशेष देने से है,

IPO से लाभIPO Full Form

आईपीओ में investor द्वारा जो पूंजी लगाई जाती है वह सीधे company के पास जाती है, परंतु निवेश के मामले में IPO से जो पूंजी हमें प्राप्त होती है वह पूंजी सीधे सरकार के पास जाती है।

इस पूंजी का कुछ भाग सरकार द्वारा टैक्स के रूप में लिया जाता है और शेष राशि हमे भेज दी जाती है। कोई भी व्यक्ति शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने लगता है तो वह किसी भी कंपनी के शेयर आसानी से खरीद और बेच सकता है तथा शेयर मार्केट से होने वाले लाभ को अर्जित कर सकता है।

इसमें होने वाले लाभ और हानि के लिए हमेशा investor ही जिम्मेदार होता है इसमें कंपनी की कोई जवाबदारी नही होती है।

IPO में कैसे करें निवेश

किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने के पहले उस कंपनी का broken best को जानने की बाद ही उस कंपनी में इन्वेस्ट करें। इसके अलावा किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने के पहले कंपनी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ले तथा उस कंपनी के जैसी कंपनियों से उसकी तुलना करने के बाद ही उसमें invest करे।

इसके अलावा कुछ दिनों तक इसके शेयर की वैल्यू रेट को नोटिस करे तथा सब कुछ समझने के बाद ही इन कंपनियों में इन्वेस्ट करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.