KYC Full Form In Hindi-केवाईसी का फुल फॉर्म क्या है?

KYC Full Form In Hindi-केवाईसी का फुल फॉर्म क्या है?

KYC का (Full Form) पूरा नाम “Know Your Customer” होता है जिसे हिंदी में  नाम “अपने ग्राहक को जानिए”  होता है। यह एक identity verify करने की प्रक्रिया है जिसकी मदद से कोई भी बैंक अपने सभी Customer की पूरी जानकारी एवं उसके निवास स्थान आदि की जानकारी अपने पास सुरक्षित रूप से रख लेती है।

KYC Full Form-केवाईसी (KYC) क्या है ?

केवाईसी कराने का मुख्य उद्देश्य अपने customer की सही पहचान करने के लिए ही किया जाता है। इसे RBI द्वारा चालू की गई एक सेवा है जिसे अपने बैंक के customers की पहचान जानने के लिए शुरू किया गया था जिससे वह अपने उपभोक्ताओं की पहचान एक data के रूप में कर सकते थे।

RBI के दिशानिर्देशों के अनुसार सभी बैंक में Account holders को KYC करवाना आवश्यक है जिसके लिए वे बैंक में KYC form को भर सकते है। KYC एक तरह से बैंक में digital पहचान के रूप में कार्य करती है जिससे customers की पुष्टि करना आसान हो जाता है।

किसी भी बैंक में खाता खोलते समय आपको KYC form भरवाया जाता है। KYC form भरने पर ही आपका बैंक में खाता खुल सकता है क्योकि इसके द्वारा ही बैंक अपने custumer की पहचान कर पाता है।

KYC कराने का मुख्य उद्देश्य बैंक सम्बंधित होने वाली धोखाधड़ी और पैसे सम्बंधित सभी प्रकार के crimes को रोकना भी है। इसके अलावा अवैध रूप से होने वाले पैसो के आदान प्रदान एवं काले धन की पुष्टि करने के लिए भी KYC करवाना आवश्यक है।

KYC करवाने के लिए बैंक अपने customers से पहचान पत्र एवं अन्य सरकारी documents मांगती है जिनके आधार पर वह customers की detail जैसे वह कहाँ से है, क्या करता है एवं आमदनी का जरिया आदि जान लेती है।

  • Digital transaction method जैसे Paytm को भी अपने Customers की पहचान करने के लिए KYC करवाना आवश्यक है।
  • आप बिना KYC के किसी भी बैंक में खाता नही खोल सकते है। 

Related Post-


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *