Cibil Full Form in Hindi-सिबिल क्या है?

Cibil Full Form in Hindi

CIBIL Full Form पूरा नाम Credit Information Bureau India Limited होता है। भारत में इस beuro की स्थापना अगस्त 2000 में Credit सूचना कंपनी के रूप में कई गई थी। इस Company का मुख्य कार्य  देश के नागरिकों के अलावा वाणिज्यिक संस्थाओं के क्रेडिट स्कोर को एकत्र करना और उनका रखरखाव करना है। इसके अलावा यह ऋण और क्रेडिट कार्ड से संबंधित उधार और भुगतान आदि से संबंधित Credit Score भी रखती है। Cibil को Short Form में Credit Information Bureau भी कहा जाता है।

Cibil Full FormCredit Information Bureau India Limited

इस Company को भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा Licence प्राप्त है एवं इसे Credit Information Companies Regulation Act 2005 द्वारा शासित किया जाता है। हालांकि Bank और Credit संस्थाओं के सदस्यों या सम्बद्ध सहयोगियों द्वारा इस Credit Information को एकत्र करने का कार्य किया जाता है। इस जानकारी के आधार पर ही किसी व्यक्ति विशेष के लिए Credit Information Report और Cibil Credit Score (CCR) तैयार कर सकते है। खास बात यह है कि यह credit Information ऋण संस्थानों के साथ मूल्यांकन और अनुमोदन में मदद करने के लिए Share की जाती है।

Cibil किस आधार पर रिपोर्ट बनाता है?

सिबिल को बैंक और अन्य फाइनेंस संस्था द्वारा लोन तथा क्रेडिट कार्ड का डाटा प्रदान किया जाता है। सिबिल इस डाटा को प्राप्त करके सिबिल रिपोर्ट या सीआईआर तैयार करता है। सिबिल रिपोर्ट तैयार करने के लिए सिबिल निम्नलिखित तत्वों का उपयोग करता है-:

  • सिबिल स्कोर -:सबसे पहले व्यक्ति के सिबिल स्कोर को प्राप्त किया जाता है जो कि 300 से 900 के बीच 3 अंकों वाली एक संख्या होती है जिसे एक निर्धारित प्रक्रिया द्वारा कैलकुलेट करके प्राप्त किया जाता है।
  • व्यक्तिगत जानकारी -: इसके बाद व्यक्ति से संबंधित जानकारी जैसे नाम, पैन नंबर, जन्म तिथि, पता, मोबाइल नंबर आदि को प्राप्त किया जाता है।
  • बैंक अकाउंट -: इसके बाद बैंक खाता से संबंधित जानकारी जैसे लोन और क्रेडिट कार्ड से संबंधित जानकारी, वर्तमान राशि, लोन राशि और क्रेडिट कार्ड लिमिट आदि की जानकारी सूचीबद्ध की जाती है।
  • क्रेडिट इंक्वायरी -: यदि आप क्रेडिट कार्ड के आधार पर लोन लेने जाते हैं तो लोन देने वाली संस्था सिविल से आपकी क्रेडिट रिपोर्ट लेने के लिए अनुरोध करती है इसे इंक्वायरी कहा जाता है।

Cibil स्कोर क्या है?

यह तीन अंको की Cibil Credit Score  संख्या होती है जिसके आधार पर आपके संपूर्ण Credit Score का Data Collect किया जा सकता है। इसे आपकी Credit Information Report में दी गयी जानकारी के अनुसार ही बनाया जाता है जिसमें आमतौर पर Cibil Credit Score 300 से 900 तक हो सकता है। यदि एक व्यक्ति को अपना सिबिल स्कोर अच्छा रखना है तो उसे हमेशा 750 से अधिक सिबिल स्कोर को प्राप्त करना होगा। इसके विपरीत यदि किसी व्यक्ति का सिबिल स्कोर 560 से नीचे होता है तो उसका सिबिल स्कोर बिल्कुल भी अच्छा नहीं माना जाता है और ऐसे में उस व्यक्ति की सिबिल स्कोर का खराब प्रदर्शन होता है। Cibil किसी व्यक्ति की Credit Information collect करने के साथ ही भारत की वित्तीय प्रणाली में भी महत्वपूर्ण योगदान निभाता आया है। ग्राहकों को उचित शर्तों पर Safe Credit में मदद करने के साथ ही यह बैंक एवं वित्तीय संस्थानों को व्यवसायिक प्रबंधन में भी मदद प्रदान किया करता है।

CIBIL क्यों महत्वपूर्ण है?

Cibil score किसी भी व्यक्ति को ऋण लेने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका के रूप में कार्य करता है। यदि आपका cibil score अच्छा नहीं है तो अधिकांश bank आप को ऋण देने से इंकार कर सकते हैं वहीं दूसरी तरफ यदि आपका Cibil score बहुत ही अच्छा है तो कोई भी बैंक आप को ऋण देने को तैयार हो जाती हैं। हैं। सिबिल स्कोर के आधार पर ही कोई भी बैंक आप को लोन देने के लिए तैयार होता है एक व्यक्ति को अपना सिबिल स्कोर अच्छा बनाने के लिए सही वक्त पर बैंक से लिए गए लोन को वक्त पर छुपा देना चाहिए इससे उस व्यक्ति को बहुत फायदे होते हैं और पर्सनल लोन जैसी सुविधाएं मिलती हैं। आपका सिबिल स्कोर अच्छा हो तो बैंक आपको जरूरत के अनुसार लोन देने के लिए तैयार हो जाती है अन्यथा यदि आपका सिबिल स्कोर और अच्छा ना हो तो आपको आपकी इच्छा अनुसार लोन प्राप्त नहीं होता है इसीलिए अपना सिबिल स्कोर अच्छा रखें ताकि आपको आपकी महत्व के अनुसार लोन प्राप्त हो सके। अच्छा सिबिल स्कोर आपकी बेहतर भूतकाल परिस्थितियों का बेहतर तरीके से प्रदर्शन करता है। Credit Score के क्या क्या लाभ है यह आप नीचे देख सकते है-

एक अच्छे सिबिल स्कोर के क्या लाभ है?

यदि आप बेहतर सुविधा प्राप्त करना चाहते हैं तो आपका सिबिल स्कोर अच्छा होना चाहिए। अगर आपका सिबिल स्कोर अच्छा होगा तो आपको निम्नलिखित प्रकार से लाभ होगा-:

अच्छे CIBIL Score के लाभ:

  • CIBIL Score आपको ऋण लेने के लिए पात्रता को तय करता है। यदि आपका CIBIL स्कोर अधिक है, तो आपको ऋण ब्याज दर में काफी छूट मिल सकती।
  • यदि आपका सिबिल स्कोर अच्छा होता है तो आपको बैंक आसानी से वह भी कम ब्याज पर एवं उनकी आसान शर्तों के साथ आपको लोन प्रदान करती है।
  • सिबिल स्कोर यह बताते हैं कि आपने अब तक जो भी लोन लिया है उसे वक्त पर चुकाया  है। एक अच्छा सिबिल स्कोर आपको आपकी जरूरत के अनुसार लोन प्रदान करवा सकता है लेकिन यदि आपका सिबिल स्कोर अच्छा नहीं है तो आपको बैंक आपकी जरूरत के अनुसार लोन प्रदान करने में असहमत होगा।
  •  यदि आपका सिबिल स्कोर अच्छा है तो आप अधिक लिमिट के क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। वैसे तो क्रेडिट कार्ड एक निश्चित लिमिट के साथ आता है परंतु यदि आपको सिबिल स्कोर अच्छा हो तो आप अधिक लिमिट क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • बाजार में उपस्थित बेहतर और अच्छी क्रेडिट कार्ड कंपनियां केवल अच्छे सिबिल स्कोर वाले खाताधारकों को ही क्रेडिट कार्ड मुहैया कराती है इसीलिए अगर आप अपनी मनपसंद क्रेडिट कार्ड कंपनी का कार्ड इस्तेमाल करना चाहते हैं तो याद रखें कि आपका सिबिल स्कोर बेहतर होना चाहिए।

इस आर्टिकल में हमने आपको सिबिल और सिबिल स्कोर से संबंधित जानकारी प्रदान की है। जो लोग बैंक से लोन प्राप्त करना चाहते हैं परंतु वह यह नहीं जानते कि वह अपना सिबिल स्कोर कैसे जाने और अच्छा सिबिल स्कोर और बुरा सिबिल स्कोर क्या होता है तो आप उन्हें हमारे इस आर्टिकल से अवगत कराएं ताकि उन्हें सिबिल और सिबिल स्कोर से संबंधित जानकारी के बारे में बेहतर सूचना मिल सके।  उम्मीद करते हैं आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा।

Read Also-EMI Full Form

2 thoughts on “Cibil Full Form in Hindi-सिबिल क्या है?”

  1. Pingback: TRF Full Form In Hindi- TRF क्या है? | Hindisafal

  2. Pingback: DOPBNK Full Form In Hindi-डीओपी बैंक क्या है? | Hindisafal

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *