IT Full Form in Hindi-आईटी का मतलब क्या है?

it full form

आज का हमारा आर्टिकल IT Full Form पर आधारित है।

क्या आपने कभी सोचा है कि हमें जो भी सूचना मिलती है वह हमें किस चीज के द्वारा प्राप्त हो रही है?

कोई भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो या खबर कुछ ही सेकंड में हमारे पास कैसे पहुंच जाती है?

इन सब का स्रोत एक ही है और वह Information Technology यानी सूचना प्रौद्योगिकी है। आइए सूचना प्रौद्योगिकी के बारे में विस्तार में जाने।

IT Full Form|सूचना प्रौद्योगिकी क्या है?

सूचना प्रौद्योगिकी या इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एक ऐसी कंप्यूटर आधारित तकनीक होती है जो सूचनाओं के आदान-प्रदान या विदेशी समाचार या अंतरराष्ट्रीय सूचनाओं एवं गुप्त सूचनाओं को स्थानांतरित करती हैं।

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी की सहायता से पूरे देश में सूचनाओं का आदान प्रदान सरल रूप से होता है।

वर्तमान समय में सोशल मीडिया पर वायरल हुई हर खबर सूचना प्रौद्योगिकी सहायता से तेजी से सभी तक पहुंच जाती है।

इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी सूचनाओं का साधन है और मोबाइल, कंप्यूटर आधारित प्रणालियां, टेलीकॉम तथा टेलिफोन इसके उपकरण है जिसके द्वारा यह वैश्विक स्तर पर सूचनाओं को स्थानांतरित करता है।

Read Also-ITI Full Form

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से क्या-क्या जुड़ा है?

चूंकि इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एक कंप्यूटर आधारित प्रणाली है इसीलिए हर वह चीज, वस्तु और सेवा जो डिजिटल प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होगी या जो डिजिटल रूप से कार्य करती होगी तो उसके लिए इंटरनेट या कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़ा होना आवश्यक है। 

मानव और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी आपस में एक दूसरे से जुड़े हुए हैं क्योंकि कंप्यूटर के प्रयोग से इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी का संचालन होता है और कंप्यूटर का उपयोग मानव करता है। इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से निम्नलिखित चीजें जुड़ी हैं-:

  • एक मनुष्य और सभी कंप्यूटर।
  • सूचना प्रौद्योगिकी या इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी को संचालित करने वाले उपकरण जैसे ऑडियो, वीडियो, टेलीफोन या कंप्यूटर आधारित प्रणालियां।
  • स्कूल में इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग करने के लिए कंप्यूटर का होना।
  • नौकरी, रोजगार, स्कूली एवं विश्वविद्यालयों में दाखिले, सरकारी तथा निजी योजनाओं एवं परीक्षा के लिए आवेदन फॉर्म, सरकारी विभागों में सूचनाएं प्राप्त करने के लिए आदि इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के संचारित उपकरण का होना आवश्यक है और कंप्यूटर कनेक्टिविटी और इंटरनेट की सहायता से इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी को प्रयोग किया जा सकता है।
  • किसी भी दुकानदार, ठेकेदार, वित्तीय संस्था, बैंक, बीमा कंपनी या सरकार द्वारा जनता एवं अपने ग्राहकों को सेवा प्रदान करने के लिए इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के तहत सेवाओं को जारी करना पड़ता है। इसमें सेवा को पूरी तरह संचालित करने के लिए इंटरनेट कनेक्शन, ऑनलाइन वेब पोर्टल, मोबाइल कनेक्टिविटी तथा अन्य प्रक्रिया पूरी करनी पड़ती है।
  • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी और मानव परस्पर एक दूसरे से इस प्रकार जुड़े हुए हैं कि हर व्यक्ति इसका प्रयोग कर किसी भी सेवा या वस्तु का लाभ उठा सकता है एवं चंद मिनटों में किसी भी सूचना को प्राप्त कर सकता है।

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के उपकरण क्या है?

वह सभी उपकरण जिसकी सहायता से किसी भी सेवा या सूचना को प्राप्त किया जा सकता है इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के उपकरण होते हैं। इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के उपकरण इस प्रकार है-:

  • टेलीफोन, रेडियो, टेलीकॉम और वॉइस स्विच।
  • कंप्यूटर एप्लीकेशन या सॉफ्टवेयर जिसके अंतर्गत सूचनाओं का डाटा तथा विवरण शामिल होता है।
  • सॉफ्टवेयर जो कंप्यूटर कनेक्टिविटी सहायता से Data, Spreadsheet , execl आदि को संचालित करते हैं।
  • इंटरनेट कनेक्शन जैसे वाईफाई के लिए राउटर, सर्वर तथा वायरिंग आदि उपकरण।
  • स्केनर तथा ऑडियो एवं वीडियो एप्लीकेशन जो डाटा को स्कैन करने तथा ऑडियो एवं वीडियो तथा पिक्चर फाइल में कन्वर्ट करने के लिए प्रयोग किए जाते हैं।
  • ऑनलाइन शिक्षा के लिए शिक्षकों द्वारा प्रयोग किए जाने वाले मोबाइल तथा कंप्यूटर एप्लीकेशन जैसे ज़ूम, गूगल मीट आदि।
  • निजी एवं सरकारी विभागों में कस्टमर केयर सर्विस प्रदान करने के लिए एंप्लॉय द्वारा कार्य के दौरान प्रयोग किए जाने वाले वॉइस उपकरण जैसे हेडफोन और टेलीफोन।

इस आर्टिकल में हमने आपको इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी से जुड़ी हुई सभी जानकारी प्रदान की है।

ऐसे ही अच्छे और सही जानकारी से जुड़े आर्टिकल को पढ़ने के लिए हमारे वेब पोर्टल को फॉलो करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *