TMC Full Form in Hindi-टीएमसी फुल फॉर्म क्या है?

TMC Full Form

TMC Full Form फुल फॉर्म “Trinamool Congress” होती है। हिंदी में उच्चारण “तृणमूल कांग्रेस” होता है जो भारत के राजनीतिक दलों में से एक है।  इस राजनीतिक दल की स्थापना 1 जनवरी 1998 को एक महिला नेता ममता बनर्जी द्वारा की गई थी। यह पश्चिम बंगाल का राजनीतिक दल है जो बहुत ही मजबूत राष्ट्रीय दलों में से एक है। वर्तमान में इस राजनीतिक दल की अध्यक्ष ममता बनर्जी है जो बहुत ही पावरफुल महिला है। इनके द्वारा अपनी पार्टी के लिए किए गए कार्यों द्वारा पश्चिम बंगाल की जनता का अपनी पार्टी के प्रति अच्छी विचारधारा का विकास किया गया है।

TMC का इतिहासTMC Full Form

ममता बनर्जी द्वारा 26 वर्ष तक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल के साथ राजनीति में कार्य करने के बाद उन्होंने अपने विचारो को पार्टी दल के समक्ष रखा। परंतु पार्टी दल द्वारा उनकी बातों पर ध्यान न देने के कारण से उन्होंने कांग्रेस पार्टी को 1998 में छोड़ दिया और बाद में अपनी स्यम की पार्टी बनाने का निर्णय लिया।

कुछ समय बाद इनके द्वारा किये गए प्रयासों से एक नई पार्टी दल की स्थापना हुई जिसे तृणमूल कांग्रेस नाम दिया गया। यह पार्टी बहुत ही मजबूत और विकासशील पार्टी के रूप में स्थापित हुई जिसने बहुत ही कम समय के अपनी चुनावी विचारधारा का तेजी से प्रसार किया।

TMC का राजनीतिक नारा

टीएमसी राजनीतिक दल द्वारा स्वयं का राजनीतिक नारा दिया गया जिसके द्वारा पार्टी को एक विशेष पहचान मिली तथा इसका विकास और तेजी से होने लगा। इस राजनीतिक दल का नारा “माँ, माटी और मनुष्य” है

TMC पार्टी प्रतीक

पार्टी द्वारा अपना एक प्रतीक चिन्ह का निर्माण किया गया है

जिसके झंडे में तीन रंग सबसे ऊपर केसरिया रंग, बीच में सफेद रंग तथा सबसे नीचे हरे रंग को दर्शाया गया है।  पार्टी के झंडे के बीच में दो फूलों वाला लोगो को दर्शाया गया है जो पार्टी के मान सम्मान का प्रतीक है।

TMC की राजनीतिक विचारधारा

तृणमूल कांग्रेस का पश्चिम बंगाली में राजनीतिक नारा ‘माँ, माटी और मनुष्य’ है जिसने बंगाल के लोगो को अपने माँ और अपनी भारत की मिट्टी के प्रति जागरूक किया है। पार्टी द्वारा मनुष्य को मनुष्य के साथ जोड़ने की बात ने लोगो मे जागरूकता का बड़ा दिया जिससे लोगो मे पार्टी के प्रति सम्मान और प्रतिष्ठा बढ़ती गई।

इस पार्टी का उद्देश्य लोगों में समाज में लिए लोकतांत्रिक समाजवाद, धर्मनिरपेक्षता, उदारीकरण की विचारधारा के मूल सिद्धांत पर देश की राजनीति में सक्रिय है। यह पार्टी भारतीय राजनीतिक दलों में से चौथा सबसे बड़ा दल है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *