UPI Full Form in Hindi | यूपीआई क्या है?

आज हम आपको UPI Full Form बताएंगे।‌

वर्तमान समय में डिजिटल पेमेंट का उपयोग बहुत बढ़ गया है। जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटलीकरण को प्रोत्साहन दिया है, तब से डिजिटल प्लेटफार्म का निर्माण भी होने लगा है। आजकल हर योजना का डिजिटलीकरण होने लगा है‌ और अब सब्सिडी लोगों के खाते में सीधे तौर पर जाती है।

इन सब डिजिटलीकरण के बीच UPI शब्द काफी प्रचलन में रहा है और यह डिजिटल पेमेंट से काफी हद तक जुड़ा हुआ है। सभी वित्तीय सेवाओं के लिए यूपीआई प्रक्रिया का प्रयोग किया जाता है।

ये भी पढ़े-सेबी क्या है?

UPI Full Form

पर क्या आप जानते हैं कि यूपीआई का फुल फॉर्म (UPI Ka Full Form) क्या है?, अगर नहीं तो हमारे इस लेख में आप यूपीआई से संबंधित सभी जानकारी जान सकेंगे।UPI Full Form

UPI Full Form Unified Payment interface है। यूपीआई का फुल फॉर्म हिंदी में एकीकृत भुगतान इंटरफ़ेस है।

यूपीआई क्या है? | UPI kya hai?

यूपीआई एक वित्तीय लेनदेन से संबंधित एक सिस्टम है जिसकी सहायता से व्यक्ति मोबाइल में किसी भी डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म जिसमें यूपीआई की सुविधा दी गई हो के माध्यम से अपने बैंक अकाउंट से अन्य किसी दूसरे के बैंक अकाउंट में पैसे भेज सकता है और अपने अकाउंट में पैसे प्राप्त भी कर सकता है।

यूपीआई सिस्टम को भारतीय रिजर्व बैंक और नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित किया गया है। यूपीआई सिस्टम की शुरुआत साल 2015 में हो गई थी परंतु इसमें गतिशीलता साल 2016 की नोट बंदी के बाद देखी गई क्योंकि जब तक नई नोट छपते तब तक ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को भारत सरकार द्वारा ज्यादा महत्व दिया जाने लगा था और तब से ही यूपीआई के इस्तेमाल में तेजी आई और अब ऑनलाइन प्लेटफार्म पर यूपीआई का इस्तेमाल करने वालों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है।

यूपीआई की सहायता से केवल बैंक अकाउंट से पैसों का लेनदेन ही सीमित नहीं है बल्कि आप यूपीआई का प्रयोग करके मोबाइल रिचार्ज, डीटीएच रिचार्ज, सिलेंडर बुक करना, ऑनलाइन शॉपिंग के लिए भुगतान, किसी भी राशन या बाजार में उपस्थित दुकान पर यूपीआई क्यूआर कोड को स्कैन करके भुगतान करना, ऑनलाइन मूवी टिकट बुक करना, फ्लाइट या रेलवे की टिकट बुक करने पर यूपीआई द्वारा भुगतान करना, ऑनलाइन फूड ऑर्डर करने पर यूपीआई द्वारा भुगतान करना आदि सुविधाओं में सहायता मिलती है। कई डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म यूपीआई से भुगतान करने पर संपूर्ण बिल में कुछ छूट प्रदान करती है जो कैशबैक के रूप में कोई गिफ्ट वाउचर या पैसे के रूप में अकाउंट में आ जाता है।

यूपीआई से पैसे कैसे भेजे जाते हैं? | UPI Se Kaise paise bhejte Hain?

यूपीआई की शुरुआत से पहले किसी को भी डिजिटल रूप से या ऑनलाइन पैसे भेजना थोड़ा मुश्किल था क्योंकि ऐसे में हम नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करके एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में पैसे भेजते थे जिसके लिए हमें Receiver के अकाउंट की सारी डिटेल्स चाहिए होती थी और उसको भरने के बाद ही हम receiver को पैसे भेज पाते थे। परंतु यूपीआई के आने से पैसे का लेन देन काफी आसान हो गया क्योंकि यदि हमें किसी को पैसे भेजने हैं तो हमें उसकी केवल एक यूपीआई आईडी चाहिए और हम अपने डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म में उसकी आईडी और अमाउंट डाल कर सबमिट पर क्लिक करते ही पैसे उस व्यक्ति के अकाउंट में चले जाएंगे।

उदाहरण -: यदि आप गूगल पे (Google pay) का इस्तेमाल करते हैं और किसी को पैसे भेजना चाहते हैं तो आप उसकी केवल गूगल पे की यूपीआई आईडी मांगे और अमाउंट दर्ज करके सबमिट कर दीजिए इसके बाद चंद मिनटों में है आप जिसको पैसे भेजना चाहते थे उसके अकाउंट में पैसे आ जाएंगे।

यूपीआई कैसे बनाएं? | UPI Id kaise banaye?

यदि आप यूपीआई का इस्तेमाल पैसे के लेनदेन तथा ऑनलाइन भुगतान के लिए करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले एक यूटीआई आईडी बनानी होगी। यदि आप यूपीआई आईडी (UPI Id) बनाना नहीं जानते हैं तो आप निम्नलिखित बिंदुओं को फॉलो कर सकते हैं-:

● सबसे पहले आपको कोई भी डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म जैसे phone pay, Google pay, Paytm आदि अपने मोबाइल में डाउनलोड करना है। ध्यान रहे कि विभिन्न डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म के यूपीआई आईडी अलग होती है।
● इसके बाद आपको डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म को अपने मोबाइल में ओपन करना है और यूपीआई के विकल्प पर जाना है।
● अब आपके सामने यूपीआई का इंटरफेस खुल जाएगा और सबसे पहले आपको अपने बैंक का चयन करने के लिए कहा जाएगा अतः अपना बैंक चुनें।
● बैंक चुनने के बाद आपसे व्यक्तिगत जानकारी जैसे आपका नाम लिंग बैंक शाखा का पता और अकाउंट नंबर से संबंधित जानकारी पूछी जाएगी ध्यान पूर्वक जानकारियों को भरें।


● यूपीआई के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या वोटर आईडी आदि दस्तावेज पहचान के लिए मांगे जाएंगे, अतः आप एक पहचान पत्र का चयन करके उसकी फोटो अपलोड करें।‌
● इसके बाद यूपीआई आपको अपना पिन जनरेट करने को कहेगा। यूपीआई पिन जनरेट करना बहुत जरूरी है क्योंकि यह आपके हर भुगतान पर आपसे पूछा जाएगा। किस लिए एक अच्छा और सुरक्षित पिन जनरेट करें।
● यह सब जानकारी पूरी होने के बाद आपकी यूपीआई आईडी तैयार हो जाती है जिससे आपके मोबाइल पर एसएमएस द्वारा भेज दिया जाता है।
● यूपीआई आईडी तैयार होने के बाद आप इसका प्रयोग ऑनलाइन लेनदेन और भुगतान के लिए कर सकते हैं।

यूपीआई सिस्टम की सुविधा प्रदान करने वाले बैंक

आइए जानते हैं कि वह कौन सी बैंक है जो यह सिस्टम की सुविधा अपने खाताधारकों को प्रदान करते हैं। नीचे दी गई सूची के अनुसार आप बैंकों के नाम जान सकेंगे-:

● स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
● पंजाब नेशनल बैंक
● आईसीआईसीआई बैंक
● एचडीएफसी बैंक
● एक्सिस बैंक
● यस बैंक
● यू सी ओ बैंक
● यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
● केनरा बैंक
● बैंक ऑफ महाराष्ट्र
● बैंक ऑफ़ बरोदा
● सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
● ओरिएंटल बैंक
● फेडरल बैंक
● कर्नाटका बैंक
● आईडीबीआई बैंक
● ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स
● पेटीएम पेमेंट बैंक
● सिंडिकेट बैंक
● विजया बैंक
● इलाहाबाद बैंक

निष्कर्ष:-

इस आर्टिकल में हमने आपको यूपीआई की फुल फॉर्म और यूपीआई से संबंधित जानकारी प्रदान की है।

ऐसे ही डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म से संबंधित जानकारी प्राप्त करने और ऐसे लेख पढ़ने के लिए हमारे वेब पोर्टल को फॉलो करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.