AFSPA Full Form In Hindi- एएफएसपीए क्या है?

आज के समय में AFSPA Full Form का विशेष योगदान माना जाता है जो भारतीय संसद के लिए विशेष रूप से कार्य करते हैं और जिनके माध्यम से सशस्त्र बलों में विशेष जानकारी रखी जाती है। ऐसे में आज हम आपको AFSPA के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

ये भी पढ़े:- CRPF Full Form In Hindi

AFSPA Full Form क्या है?

इसे मुख्य रूप से भारतीय संसद का एक अभिन्न अंग माना जाता है जो अशांत क्षेत्रों में विशेषाधिकार प्राप्त करते हैं जिसके तहत भारतीय सशस्त्र बलों और राज्य के अर्ध  सैनिक बलों को विशेष अधिकार प्राप्त होते हैं। जिसके अंतर्गत किसी भी प्रकार की मुठभेड़ होने पर विशेष रूप से जांच का भी प्रावधान रखा गया है ताकि किसी भी प्रकार की समस्या से भविष्य में सामना किया जाए।

AFSPA का फुल फॉर्म:-

AFSPA का फुल फॉर्म मुख्य रूप से ” Armed Forces special powers Act” है जिसे हिंदी में “सशस्त्र बल विशेष शक्तियां अधिनियम” कहा जाता है।

AFSPA अधिनियम क्या है?

यह एक ऐसा विशेष अधिनियम है जिसे 11 सितंबर 1958 को लागू किया गया था और शुरुआत में ऐसा नियम बनाया गया था कि सिर्फ इसे पूर्वोत्तर भारत में ही लागू किया गया था और धीरे-धीरे दूसरे राज्यों में भी विस्तार कर दिया गया था। ऐसे में इसे पंजाब और चंडीगढ़ में ही सबसे पहले लागू किया गया और जिसके बाद 5 जुलाई 1990 में फिर से पूर्वव्यापी रूप से लागू कर दिया गया था और इस अधिनियम के तहत विशेष अधिकार भी प्राप्त किए गए हैं।

 AFSPA के अंतर्गत आने वाले राज्य:-

इस अधिनियम के अंतर्गत कुछ मुख्य राज्यों को शामिल किया गया है जिसके अंतर्गत इसे लागू किया गया है।

  1. त्रिपुरा
  2. जम्मू कश्मीर
  3. मणिपुर
  4. असम
  5. मिजोरम
  6. अरुणाचल प्रदेश
  7. मेघालय
  8. नागालैंड

AFSPA की आवश्यकता:-

यह मुख्य रूप से बनाया गया अधिनियम है जिसकी आवश्यकता भारतीय सशस्त्र सेना में मुख्य रूप से मानी जाती है। इसके अंतर्गत यदि किसी व्यक्ति को इस अधिनियम के विपरीत कार्य करते हुए पाया जाता है तो शारीरिक रूप से सजा देने का प्रावधान रखा गया है साथ ही साथ इस अधिनियम के अंतर्गत यदि किसी व्यक्ति पर शक होता है, तो भी उसकी तलाशी लेकर संदेह के घेरे में रखा जा सकता है और अगर किसी भी व्यक्ति के प्रति शक  बढ़ने की स्थिति में उसके लिए गोली का प्रयोग भी किया जा सकता है।

ऐसे में इस अधिनियम को लागू करना आवश्यक रूप से स्वीकार होता  है, जो कहीं ना कहीं हित की बात करता है। ऐसे में इस अधिनियम की आवश्यकता मुख्य रूप से मानी जाती है।

AFSPA लागू करने का नियम:-

इस अधिनियम को विशेष रूप से लागू किया गया है जिसके कुछ निम्न नियम है

  1. यदि किसी कारणवश किसी भी राज्य की क्षमता के बाहर अशांति फैलाई जा रही हो,तो  ऐसे में यह नियम लागू होता है।
  2. किसी प्रकार से केंद्रीय बल की वापसी से क्षेत्र में आने वाली अस्थिरता भी नियम के अंतर्गत होती है।
  3. राज्य के पुलिस किसी कारणवश कानून व्यवस्था बनाए रखने में असफल होने पर नियम लागू होते हैं।

 AFSPA के कुछ मुख्य प्रावधान:-

  1. इसके अंतर्गत आने वालों को गिरफ्तार करने या किसी को छुड़ाने के लिए किसी भी प्रकार से तलाशी ली जा सकती है जिससे कोई भी मना नहीं कर सकता है|
  2. इस नियम के अंतर्गत भारतीय सशस्त्र बल बिना वारंट के गिरफ्तार कर सकती है।
  3. किसी भी प्रकार से कानून का उल्लंघन करने पर विशेष रूप से गोली मारने का भी प्रावधान रखा गया है।
  4. किसी भी प्रकार से शक होने पर सशस्त्र बल किसी भी प्रकार के वाहनों को रोककर तलाशी ले सकती है और पूछताछ के लिए ले जाया जा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.