CBI Full Form in Hindi-सीबीआई क्या है?

CBI Full Form

आज का हमारा आर्टिकल CBI Full Form है। इस आर्टिकल हम आपको CBI से संबंधित जानकारी देंगे।

CBI Full Form क्या है?

CBI Full Form Central bureau of investigation है। CBI का हिंदी अर्थ केंद्रीय जांच ब्यूरो है।

CBI (सीबीआई) क्या है?

सीबीआई एक भारतीय जांच एजेंसी है जो भारत में होने वाले तथा राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले अपराध, घोटाले, भ्रष्टाचार या अन्य अपराधों से संबंधित केस की जांच करती है। हर देश की स्वयं जांच एजेंसी होती है तथा भारत की जांच एजेंसी सीबीआई है।

सीबीआई की स्थापना भारत की स्वतंत्रता से पहले सन 1941 में हुई थी तथा सीबीआई को केंद्रीय जांच ब्यूरो का नाम 1963 में दिया गया। सीबीआई को भारत सरकार द्वारा किसी भी अपराधिक मामले की जांच के लिए राज्य सरकार की सहमति द्वारा आदेश दिया जाता हैं।

भारतीय उच्च न्यायालय तथा सर्वोच्च न्यायालय बिना किसी राज्य की सहमति के भी सीबीआई को जांच के आदेश दे सकते हैं। यह कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के अधीन कार्यरत है।

सीबीआई के इतिहास की बात की जाए तो ब्रिटिश शासन के वक्त भारत सरकार के अंतर्गत आर्थिक आंकड़ों में समस्या तथा रिश्वतखोरी एवं भ्रष्टाचारियों की संख्या में वृद्धि होने लगी थी और इस बढ़ती समस्या को देखते हुए भारतीय पुलिस की एक सेना बनी जिन्होंने ऐसे मामलों में जांच की और भ्रष्टाचारी अधिकारियों को ढूंढ निकाला। सरकार में फैले भ्रष्टाचार को‌ खत्म करने  तथा आर्थिक मामलों, अपराधिक मामले तथा सामान्य मामले में जांच की आवश्यकता हेतु केंद्रीय जांच ब्यूरो का गठन किया गया।

CBI कैसे काम करती है?

सीबीआई मुख्य रूप से आपराधिक मामलों में संपूर्ण रुप से अपनी भूमिका निभाती है। हम निम्नलिखित कार्यों की सहायता से समझाएंगे की किस प्रकार सीबीआई काम करती है-:

  • सामान्य अपराध शाखा

सीबीआई सामान्य अपराध शाखा के अंतर्गत उन मामलों पर काम करती है जिसमें केंद्र सरकार तथा सरकारी विभागों के कुछ ऐसे कर्मचारी शामिल होते हैं जिन पर ऐसा संदेह किया जाता है कि वह भ्रष्टाचार तथा रिश्वतखोरी जैसे कामों में शामिल है। ऐसे कर्मचारियों की एक सूची तैयार की जाती है तथा सीबीआई द्वारा इनके घर पर छापा या भारतीय उच्च न्यायालय द्वारा कोर्ट से फरमान इनके घर भेजा जाता है।

सीबीआई की जांच तथा सभी सरकारी आरोपों के खत्म होने तक इन कर्मचारियों को अपनी ड्यूटी पर आने के लिए प्रतिबंधित कर दिया जाता है। सीबीआई की जांच रिपोर्ट तथा उच्च न्यायालय के फैसले के आधार पर ही इन कर्मचारियों पर जुर्माना तथा सजा का ऐलान किया जाता है।

  • आर्थिक अपराध शाखा

सीबीआई आर्थिक अपराध शाखा के अंतर्गत राजकोषीय नियमों, प्रतिभूतियों से संबंधित अपराध, आर्थिक अपराधों में वृद्धि तथा अर्थव्यवस्था में आर्थिक रूप से होने वाले घोटालों की जांच करती है। सीबीआई इन अपराधों के अंतर्गत आंकड़ों की जांच करती है तथा संबंधित अधिकारियों से पूछताछ करती है।

  • इसके अलावा आयात निर्यात, विदेशी मुद्रा, पासपोर्ट तथा अन्य संबंधी कानूनों में उल्लंघन की जांच की जिम्मेदारी भी सीबीआई को दी जा चुकी है।

इस तरह सीबीआई हर मामले में अपनी भूमिका निभाती है।

इस आर्टिकल में हमने आपको सीबीआई (CBI) से संबंधित जानकारी प्रदान की है। उम्मीद करते हैं आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा।

Latest Post-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *