EPC Full Form in Hindi-ईपीसी क्या है?

EPC Full Form in Hindi

EPC का (Full Form) पूरा नाम “Engineering Procurement and Construction” होता है। हिंदी भाषा में इसे “इंजीनियरिंग, खरीद और निर्माण” कहा जाता है। EPC निर्माण उद्योग के क्षेत्र में एक प्रकार का बहुत लोकप्रिय अनुबंध है जिसके द्वारा एक ठेकेदार-ग्राहक संबंध को भी यहां परिभाषित किया गया है। यह निर्माण परियोजना के तहत होने वाले सभी कार्यों को जैसे परियोजना के डिजाइन, सामग्री की खरीद और पूरा करने के लिए आवश्यक श्रम और उपकरणों के बारे में सभी जानकारी शामिल करता है। इसमें किसी भी निर्माण कार्य प्रक्रिया की समय सीमा होती है जिसके अंतर्गत ठेकेदार द्वारा ली गई राशि के अनुसार अपने बजट को बनाए रखता है।

EPC Full Form kya Hai?

ईपीसी का मुख्य रूप से उद्देश्य इंजीनियरिंग, प्रोक्योरमेंट, कंस्ट्रक्शन, में काम करने वाले लोग इंजीनियरिंग कहलाते हैं और निर्माण ठेकेदार परियोजना होते हैं। इसमें  विस्तृत इंजीनियरिंग डिजाइन को पूरा करने के साथ उपकरण और सामग्री की भी खरीदारी करते है। इस तरह से EPC द्वारा ग्राहकों को एक कार्य सुविधा या संपत्ति प्रदान करने का काम किया जाता है । EPC कन्स्ट्रक्शन प्रोजेक्ट्स प्रदान करने वाली विभिन्न companies  होती है जो अपने स्तर के अनुसार कार्य को पूर्ण करती हैं-

EPC कंपनियों की सूची

EPF के अंतर्गत आने वाली मुख्य companies को हमने आपको नीचे बताया हुआ है-

  • Tata Project
  • Gammon India
  • JP Associates
  • Lanco Infratech
  • Nagarjuna Construction Company
  • Hindustan Construction Company
  • Larsen & Toubro Limited
  • Patel Engineering Ltd.
  • Era Infra Engineering
  • Sadbhav Engineering Limited

EPC के मुख्य बिंदु

  • ग्राहक की आवश्यकता के साथ अस्पष्टता और भिन्नता को रोकने के लिए ठेकेदार और ग्राहक प्रत्येक चरण को गहराई से संबोधित करेंगे।
  • जब भी अनुबंध पर हस्ताक्षर किए जाते हैं, तो ठेकेदार को बजट के तहत लागत को बनाए रखना चाहिए और निर्दिष्ट समय सीमा के भीतर काम पूरा करना चाहिए।
  • वह व्यवस्था जिसके तहत एक ईपीसी ठेकेदार निर्दिष्ट बजट के भीतर परियोजना को पूरा करने के लिए जिम्मेदार है एवं समय को आमतौर पर LSTK (गांठ सम मोड़ कुंजी) अनुबंध के रूप में संदर्भित किया जाता है।
  • EPC एक तरह का Contract पेपर होता हैं जो मुख्य रूप से Contractor और Client के बीच के किसी प्रोजेक्ट के लिए सौदा किया जाता है।
  • EPC में ग्राहक और ठेकेदार द्वारा अपनी शर्तों को स्पष्ट करने के बाद ही दोनों द्वारा EPC डॉक्यूमेंट पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद ही आगे की प्रक्रिया प्रारंभ किया जाता है।

Read Also-APMC Full Form 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *