Festival Of India in Hindi-भारत के त्योहारों की लिस्ट

Festival Of India

आज के हमारे आर्टिकल में हम भारत के त्योहारों ( Festival Of India) के बारे में जानकारी हासिल करेंगे।

भारत अनेकों विविधताओं वाला एवं सांस्कृतिक छवि से संपूर्ण एक समृद्ध देश है। भारत अपने प्राकृतिक सौंदर्य सरल एवं सांस्कृतिक जीवन, रीति रिवाज तथा सबसे महत्वपूर्ण भारतीय त्योहारों ( Festival Of India) से विश्व भर में प्रचलित है।

Festival Of India

आई भारत में मनाए जाने वाले प्रमुख त्योहारों के बारे में विस्तार में जाने।

इस आर्टिकल में निम्नलिखित विषयों का समेटा जाएगा-:

  • भारतीय त्योहारों की सूची ( List of festival of India)
  • भारतीय प्रमुख त्यौहारों का सार ( short brief of Indian festival)
  • भारतीय त्यौहारों का महत्व (importance of festival of India)
  • निष्कर्ष

भारतीय त्योहारों की सूची

भारत में अनेक विविधताओं से संबंध रखने वाले लोग रहते हैं। यहां पर हर त्योहार से लोगों की आस्था जुड़ी हुई है तथा हर त्यौहार बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया जाता है। भारतीय त्योहार में सांस्कृतिक झलक का एक अनोखा रूप देखने को मिलता है। भारत में कुछ त्यौहार ऋतुओं के अनुसार मनाया जाता है तथा कुछ विशेष दिन या घटना के संबंध मे मनाए जाते हैं।

भारतीय त्योहारों के दौरान हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई तथा अन्य धर्मो से संबंधित देवी देवताओं तथा धर्मगुरुओं की त्योहार के दिन पूजा तथा आराधना की जाती है। लोगों में अपने धर्म गुरु एवं देवी-देवताओं के प्रति परम आस्था का विशिष्ट रूप देखने को मिलता है। भारतीय त्योहारों की झलक ना सिर्फ घरों में बल्कि भारतीय बाजारों में भी देखने को मिलती है।

भारतीय त्योहारों में विशेष त्योहारों पर विशेष प्रकार की पोशाकें सदियों से पहनी जा रही है और त्योहारों के आने से पहले बाजारों में यह पोशाके दिखने लगती है। इसके अलावा कई प्रकार की विशेष धातुओं का पूजा के समय प्रयोग किया जाता है। भारतीय त्योहारों में हर त्यौहार को मनाने का तरीका हर धर्म के लोगों में विभिन्न रूप से देखा जा सकता है और यही विभिनता भारतीय त्योहारों की सांस्कृतिक झलक को अनूठे रूप में प्रस्तुत करती है।

ये भी पढ़े-Ramayan in Hindi

आइए अब भारतीय त्योहारों ( festival of India) की ऋतुओं, विशेष दिन या घटना के आधार पर सूची देखते हैं-:

  • नववर्ष
  • लोहड़ी पर्व।
  • मकर संक्रांति एवं पोंगल।
  • गुरु गोविंद सिंह जयंती।
  •  गणतंत्र दिवस।
  •  बसंत पंचमी।
  •  शिवाजी जयंती।
  •  हजरत अली जन्मदिवस।
  •  गुरु रविदास जयंती।
  •  महर्षि दयानंद सरस्वती जयंती।
  •  महाशिवरात्रि।
  • होलिका दहन।
  • रंगो वाली होली।
  • गुड फ्राइडे
  • ईस्टर डे
  • चेत्ररा सुख लड़ी
  • वैशाखी तथा अंबेडकर जयंती
  • वैशाखडी़।
  • रामनवमी
  • महावीर जयंती
  • जमात उल विदा
  • रबिंद्रनाथ जन्मदिवस
  • रमजान ईद/ ईद उल फितर
  • बुद्ध पूर्णिमा
  • रथ यात्रा
  • बकरा ईद/ ईद al-adha
  • स्वतंत्रता दिवस
  • पारसी नववर्ष
  • मोहर्रम
  • ओणम
  • रक्षाबंधन
  • जन्माष्टमी
  • गणेश चतुर्थी
  • महात्मा गांधी जयंती
  • महा सप्तमी
  • महा अष्टमी
  • महा नवमी
  • दशहरा
  • मिलाद उन नबी
  • महर्षि वाल्मीकि जयंती
  • करवा चौथ
  • दीपावली
  • गोवर्धन पूजा
  • भैया दूज
  • छठ पूजा
  • गुरु नानक जयंती
  • क्रिसमस

भारतीय त्योहारों का सार

भारत में सभी त्योहार भाईचारे एवं प्रेम तथा आस्था के साथ मनाए जाते हैं। भारतीय त्योहारों में धार्मिक राजनीतिक एवं सामाजिक तथा एक विशेष जाति से संबंध रखने वाले हर प्रकार के त्यौहार मनाए जाते हैं। भारतीय त्योहारों में कुछ विशेष त्योहार ऐसे हैं जिन्हें सभी धर्म के लोग बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। कुछ विशेष भारतीय त्योहारों का सार इस प्रकार है-:

लोहड़ी

लोहड़ी पंजाबियों का एक प्रमुख त्यौहार है। लोहड़ी त्योहार से पंजाबियों के नववर्ष की शुरुआत होती है। लोहड़ी को एक साथ इकट्ठा होकर लकड़ियों को सजाकर एवं उसमें आग लगाकर तथा अग्नि में मक्का, रेवड़ी गुड़ की पट्टी आदि भोज्य पदार्थों को किया जाता है तथा अग्नि का आशीर्वाद लिया जाता है।

मकर संक्रांति

भारत में मकर संक्रांति का त्यौहार हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है और मकर संक्रांति से हिंदू नववर्ष की शुरुआत होती है। मकर संक्रांति के दिन नई फसल की उपज से अन्य के पकवान बनाए जाते हैं और उनका भोग भगवान को लगाकर इस आशीर्वाद की मांग की जाती है। उत्तर में यह तो है मकर संक्रांति के रूप में और दक्षिण में पोंगल के रूप में मनाया जाता है।

गणतंत्र दिवस

भारत में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाने का महत्व यह है कि इतिहास में 26 जनवरी 1950 को भारतीय कानून को लागू किया गया था और इस प्रकार भारत का अपना कानून बनकर निर्मित हुआ था।

भारत के प्रधानमंत्री कब जनवरी को लाल किले पर झंडा फहराते हैं तथा राजघाट पर शानदार भारतीय परेड आयोजन किया जाता है जिसने भारत की विविधताओं, त्योहार तथा संस्कृत जीवन एवं प्राकृतिक सुंदरता देखने को मिलती है और इसके अलावा विदेश से प्रमुख अतिथि को भी निमंत्रण दिया जाता है।

बसंत पंचमी

बसंत पंचमी बसंत ऋतु का आगमन तथा होली पर्व के आगमन के उपलक्ष में मनाया जाता है। इस दिन मां सरस्वती की पूजा की जाती है। बसंत पंचमी के दिन से ही बसंत ऋतु का आगमन समझा जाता है।

होली

होली हिंदू धर्म का एक प्रमुख त्योहार है। होली फरवरी से मार्च के महीने के मध्य मनाई जाती है। होली दो प्रकार की होती है एक होलिका दहन और दूसरी रंगों वाली होली। होलिका दहन को होली वाले रंगों से ठीक 1 दिन पहले मनाया जाता है।

रंग वाली होली में लोग एक दूसरे को रंग बिरंगी कलर लगाकर होली की बधाई देते हैं और होली पर बनने वाले विशेष पकवान गुजिया का सेवन स्वयं करते हैं और रिश्तेदारों को भी कराते हैं।

ईद उल फितर

भारत में रहने वाले मुस्लिम बहन भाइयों के लिए एक विशेष त्यौहार है तथा इस दिन मुस्लिम भाई बहन मस्जिद जाकर नमाज पढ़ते हैं तथा घर पर अच्छे-अच्छे पकवानों जैसे की सेवइयां, मिठाई, शोरबा आदि का सेवन करते हैं और ईद की बधाई देते हैं।

स्वतंत्रता दिवस

भारतीयों में सबसे महत्वपूर्ण पर्व स्वतंत्रता दिवस है क्योंकि इतिहास में 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजों से  भारतीयों को आजादी मिली थी। हर साल स्वतंत्रता दिवस को बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया जाता है।

गांधी जयंती

हर साल 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती मनाई जाती है। महात्मा गांधी भूतपूर्व नेता हैं। महात्मा गांधी को भारत का राष्ट्रपिता भी कहा जाता है। भारत को आजादी दिलाने में महात्मा गांधी का महत्वपूर्ण स्थान रहा है।

महात्मा गांधी की भूख हड़ताल की वजह से ही अंग्रेजों को भारत वासियों के आगे घुटने टेकने पड़े और अपना सारा राज का समेटकर विदेश वापस लौटना पड़ा।

दशहरा

दशहरा हिंदुओं का एक महत्वपूर्ण पर्व है। यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक माना जाता है क्योंकि इस दिन भगवान राम ने रावण का वध किया था और सीता जी को छुड़ाकर वापस लाए थे। इसी उपलक्ष में हर साल दशहरा मनाया जाता है।

दीपावली

दीपावली हिंदुओं का सबसे प्रसिद्ध त्योहार है। इस दिन भगवान राम 14 वर्ष का वनवास काटकर अयोध्या लौटे थे और इसी खुशी में अयोध्या वासियों ने घी के दीपक जलाए थे और पूरे अयोध्या को रोशन कर दिया था। तब से लेकर अब तक हर साल दिवाली मनाई जाती है।

दिवाली अमावस्या के दिन मनाई जाती है इसीलिए इस दिन चांद नहीं निकलता है और सब घी के दीपक को जलाकर ही रोशनी करते हैं। इस दिन लक्ष्मी माता की और गणेश जी की पूजा की जाती है।

रमजान

यह मुस्लिमों का एक प्रमुख त्योहार है। रमजान 30 दिन का रोजा रखा जाता है और रोजे के दौरान कुछ भी खाया पिया नहीं जाता है। सुबह 4:00 बजे से कुछ प्रमुख पकवानों का सेवन करके और नमाज पढ़ के रोजे की शुरुआत की जाती है तथा लगभग शाम को 7:00 बजे इफ्तारी के वक्त नमाज पढ़कर तथा पकवान खाकर रोजे को तोड़ा जाता है। रमजान के 30 दिन खत्म होने पर ईद आती है।

क्रिसमस

क्रिसमस ईसाइयों का महत्वपूर्ण त्यौहार है। सभी ईसाई लोग इस दिन चर्च में जाकर मोमबत्ती जलाते हैं तथा प्रार्थना करके ईसाई धर्म गुरु ईसा मसीह को याद करते हैं। प्रार्थना के बाद सब लोग गले मिलकर क्रिसमस की बधाई देते हैं और विशेष पकवानों का सेवन करते हैं।

भारतीय त्योहारों का महत्व

भारतीय त्योहारों का अपना एक अलग महत्व हर धर्म एवं जाति के लोगों में रहा है। धार्मिक त्योहारों से लोगों की आस्था जुड़ी होती है और इस त्यौहार के दौरान लोग अपने धर्म गुरुओं एवं देवी देवताओं को याद करके उनकी पूजा करते हैं और उनका आशीर्वाद लेते हैं। भारत में सदियों से ही सांस्कृतिक रूप से त्योहारों को मनाना और देवी देवताओं की पूजा करना विशेष रुप से देखने को मिला है।

भारतीय त्योहारों से लोगों के बीच भाईचारे, प्रेम एवं एकता की भावनाओं को पूर्ण रूप से देखा जा सकता है। भारत में मनाए जाने वाले अनेकों त्योहारों से हर धर्म के रीति रिवाज तथा सांस्कृतिक मान्यता का पता चलता है।

निष्कर्ष

सभी भारतीयों को भारत में मनाए जाने वाले त्योहारों के बारे में विशेष रूप से ज्ञान होना आवश्यक है क्योंकि हर धर्म के पीछे तथा त्यौहार के पीछे और उसे मनाए जाने का सही कारण पता होना बेहद आवश्यक है क्योंकि सही जानकारी ही प्रेम भावना तथा एकता को बढ़ावा देती है।

इस आर्टिकल में हमने आपको भारतीय त्योहारों ( Festival Of India) के बारे में जानकारी दी है।

ऐसे ही अच्छे और भारतीय रीति-रिवाजों एवं सांस्कृतिक तथ्यों से संबंधित आर्टिकल को पढ़ने के लिए हमारे वेब पोर्टल को फॉलो करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *