FIR Full Form in Hindi-एफ.आई.आर क्या है?

FIR  full form (एफ.आई.आर) “First Information Report”होती है जिसे हिंदी भाषा में “प्रथम सूचना विवरण” कहा जाता है. यानी किसी भी मानवीय आपराधिक घटना के संबंध में पुलिस की दी जाने वाली प्रथम सूचना FIR होती है।

FIR Full Form क्या है?

यह एक लिखित दस्तावेज इंफॉर्मेशन होती है जो किसी भी प्रकार से एक व्यक्ति द्वारा दूसरे व्यक्ति पर किसी अप्रिय घटना के बारे में पुलिस को लिखित में दी जाने वाली इन्फॉर्मेशन को FIR कहा जाता है जिसके लिए सर्वप्रथम पीड़ित व्यक्ति को पुलिस के पास जाकर पूरे घटना क्रम की सम्पूर्ण जानकारी को बताया जाता है जिसका पुलिस लिखित में ब्यौरे करने के बाद आगे की कार्यवाही करती है।

FIR की कार्यवाही प्रक्रिया

यदि पुलिस के द्वारा कार्यवाही के बाद अपराध की पुष्टि हो जाती है तो अपराधी व्यक्ति को कोर्ट में ले जाया जाता है जिसमे अपराधी व्यक्ति पर लगाए गए अपराधियों को सभी सबूतों और गबाहो तथा पुलिस द्वारा मिले सबूतों के आधार पर कोर्ट द्वारा अपराध की पुष्टि करने  के बाद व्यक्ति को न्याय कानून प्रक्रिया द्वारा करने वाले अपराध के लिए एक उचित सजा सुनाई जाती है।

 एफ.आई.आर के प्रकार-

 FIR बहुत प्रकार की होती है जो अलग अलग प्रकार के जुर्म के लिए अलग अलग तरीके से लिखी जाती है जैसे मारपीट, गाली-गलौच, चोरी, उत्पीड़न, दहेज, आदि सभी के लिए अलग अलग न्याय धाराओं के अनुसार FIR को एक कानूनी डॉक्यूमेंट्री पर लिखा जाता है।  FIR लिखने के बाद इसमे पीड़ित द्वारा कुछ भी चेंज करवाया जा सकता है तथा पुलिस से अपराधी व्यक्ति को अपराध देने के लिए अपील भी कर सकता है।

 एफ.आई.आर एक बार लिखने के बाद पुलिस को इस पर तुरंत करवाही करनी पड़ती है और जल्द ही मुजरिम को पुलिस द्वारा पकड़ लिया जाता है और अपराध की पुष्टि के बाद ही उसे न्यायालय में पेश किया जाता है जिसमे न्यायाधीश कानून में लिखित धारको के अनुसार अपराधी व्यक्ति को सजा सुनता हैं। अपराधी व्यक्ति अपने द्वारा किया गए अपराध के लिए जेल में सजा काटता है। यह सब कानूनी प्रक्रिया द्वारा होता है।


Leave a Comment

Your email address will not be published.