जापान की राजधानी | Japan ki Rajdhani Kya Hai

Japan ki Rajdhani -आज अगर टेक्नोलॉजी के बढ़ते हुए कदमों में सबसे आगे जो देश है वो जापान शहर है। आज वहां पर हर वो टेक्नोलॉजी सबसे पहले डिवेलप की जाती है इसके बारे में शायद आप कभी सोच भी नहीं सकते है।जापान को टेक्नोलॉजी वाला देश भी कह सकते हैं।

वहां पर एक छोटा बच्चा भी नए नए एक्सपेरिमेंट करके एक नया प्रयोग करने के बाद एक नए आविष्कार को जन्म दे देता है। इसीलिए आज हम इस पोस्ट में आपको जापान और Japan ki Rajdhani के विषय में ही जानकारी देने वाले हैं।

Japan ki Rajdhani क्या है?

जापान की राजधानी कहां है, यह सवाल अक्सर आपने अपने जीवन में किसी भी तरह के अगर एग्जाम दिए होंगे या आपकी पढ़ाई में आजकल तो इंटरव्यू के दौरान भी इस तरह के सवाल पूछे जाते हैं। बहुत कम लोगों को इसके विषय में जानकारी होती है कि आखिर Japan ki Rajdhani क्या है या फिर किसी भी कंट्री या किसी भी जगह की राजधानी के बारे में यह सवाल पूछा जा सकता है। बहुत स्टूडेंट को जापान की राजधानी के बारे में जानकारी नहीं है। के विषय में हो ना तो परीक्षा में ना इंटरव्यू में सही जानकारी दे पाते हैं तो आज हम आपको इस पोस्ट में जापान की राजधानी क्या है इसके विषय में जानकारी देंगे।

जापान देश का परिचय

जापान संपूर्ण विश्व का एक पावरफुल देश है, और एशिया महाद्वीप का सबसे बड़ा देश माना जाता है। जापान में चार बड़े और कई छोटे-छोटे द्वीप भी है। जो कि प्रशांत महासागर में स्थित जापान के पड़ोसी देश दुनिया के सबसे अधिक जनसंख्या वाले देश चीन कोरिया और रूस माने जाते हैं। इसके अलावा जापान संपूर्ण विश्व का एकमात्र ऐसा देश है जहां पर आधुनिक परंपरा प्राचीन परंपराओं से जुड़ी हुई मानी जाती है। जापान की जनसंख्या 11 करोड़ 55 लाख है। विश्व में यह 11 वे स्थान पर सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश माना जाता है। जापान की मातृ भाषा अर्थात वहां की राष्ट्रीय भाषा जापानी है। जापान के लोग बहुत ही मेहनती होते हैं।

Nepal ki Rajdhani kya Hai

क्या है जापान की राजधानी 

जापान की राजधानी टोक्यो है लेकिन जापान में पहले प्राचीन समय में कई राजधानियां हुई थी क्योंकि यहां पर राजा का निवास हुआ करता था इसीलिए जहां राजा का निवास होता था उसी को ही राजधानी बना दिया जाता था टोक्यो का नाम सन 1868 में EDO था। उसके बाद टोक्यो को 1868में जापान की राजधानी बना दिया गया। इसके अलावा टोक्यो की जनसंख्या लगभग 95 लाख के करीब पानी जाती है और यह विश्व का सबसे अधिक आबादी वाला महानगरीय क्षेत्र है जापानी संस्कृति वित्त और सरकार का केंद्र भी है। टोक्यो जापान के होन्शु द्विप पर बसा हुआ है। इसके अलावा जापान का टोक्यो शहर में सबसे बड़ी मछली की मंडी भी माना जाता है।

टोक्यो शहर का नामकरण

टोक्यो शहर मूल रूप से पहले के समय में “एडो” के नाम से जाना जाता था। जिसको जापानी भाषा में मुहाना कहा जाता है। सन 1868 में इसको जापान की राजधानी घोषित कर दिया गया था। और इसी समय में इसका नाम एडो से बदलकर टोक्यो कर दिया गया था। शुरुआत में मेंईजी के काल में इसको तोउकेउ के नाम से भी लोग जानते थे। इसके अलावा बहुत से कुछ अंग्रेजी डाक्यूमेंट्स में इसका नाम टोकई के नाम से लिखा गया। लेकिन यह एक प्रचलित शब्द था आज हम सभी के सामने यह टोक्यो के नाम से ही जाना जाता है।

टोक्यो से जुड़ी हुई कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

टोक्यो से जुड़ी हुई कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां निम्न प्रकार हैं…

  • टोक्यो संपूर्ण विश्व का सबसे बड़ा महानगरीय क्षेत्र माना जाता है।
  • टोक्यो शहर का प्राचीन नाम एडो था सन 1868 टोक्यो नाम रखा गया था।
  • टोक्यो में जापान की संस्कृति की पूरी झलक देखने को मिलते हैं।
  • टोक्यो की जनसंख्या की अगर बात की जाए तो लगभग 85 लाख जनसंख्या निवास करती है।
  • क्षेत्रफल की दृष्टि से भी विश्व का सबसे बड़ा नगरीय क्षेत्र माना जाता है।
  • जापान के सबसे व्यस्ततम रेलवे स्टेशनों में टोक्यो शहर का शिंजुकु रेलवे स्टेशन माना जाता है।
  • टोक्यो मेट्रोपोलोसी ऑफिशियल रूप से प्रशांत महासागर के दो महाद्वीप की श्रंखला को पूरी करता है।
  • संपूर्ण विश्व का सबसे व्यस्त चौराया टोक्यो शहर में शिबुया क्रोसिंग माना गया है।
  • टोक्यो शहर का अधिकारिक रूप से नाम लोगों के लिए 1890 में शुरू हुआ था।

Conclusion

आज हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से जापान की राजधानी क्या है इसके विषय में जानकारी प्रदान की है। हमें उम्मीद है कि आपको जो भी हमने जानकारी दी है वह जरूर आपको पसंद आएगी। इसी तरह की जानकारियों से अगर आप जुड़े रहना चाहते हैं तो हमारी वेबसाइट पर कंटिन्यू जोड़ सकते हैं, और यह पोस्ट पसंद आए तो कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.