MPIN Full Form in Hindi-एमपिन क्या है?

mpin Full Form

आज का हमारा आर्टिकल MPIN Full Form है। इस आर्टिकल में हम आपको MPIN से संबंधित सभी जानकारी देंगे।

MPIN Full Form क्या है?

MPIN Full Form Mobile Banking Personal Identification Number है। MPIN का हिंदी अर्थ मोबाइल बैंकिंग पर्सनल आईडेंटिफिकेशन नंबर या मोबाइल बैंकिंग व्यक्तिगत पहचान संख्या है।‌

MPIN क्या है?

यह एक बैंक आधारित नंबर है जिसे मोबाइल की सहायता से पैसों के लेनदेन के दौरान इस्तेमाल किया जाता है। यह नंबर एटीएम पिन की भांति होता है जिस प्रकार हम पैसे निकालने के लिए एटीएम में 4 या 6 अंको का नंबर दर्ज करते हैं उसी प्रकार मोबाइल के दौरान पैसों को एकदम से दूसरे बैंक में ट्रांसफर करने के लिए या पैसे प्राप्त करने के लिए MPIN नंबर दर्ज करना पड़ता है।

यह कोड बैंक द्वारा अपने ग्राहकों को मोबाइल बैंकिंग सुविधा प्रदान करने के लिए दिया जाता है। खाताधारक यूपीआई तथा यूएसएसडी बैंकिंग का उपयोग करके स्वयं MPIN नंबर सेट कर सकता है। यह एक गुप्त कोड होता है इसीलिए इस कोड की जानकारी आपके अलावा किसी और को नहीं होनी चाहिए अन्यथा आप वित्तीय संबंधी बड़ी समस्या का शिकार हो सकते हैं‌।

क्योंकि इस कोड को दर्ज करते ही आपके बैंक अकाउंट संबंधी जानकारी जैसे अकाउंट बैलेंस आदि जैसी जानकारी दिखने लगती है तथा एक निश्चित अमाउंट डाल कर आप किसी भी बैंक में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। यदि आपका खाता मोबाइल बैंकिंग आधारित ऐप पर रजिस्टर है तो आप MPIN की सहायता से किसी भी अन्य बैंक से प्राप्त पैसों की हिस्ट्री चेक कर सकते हो।

MPIN की महत्व

भारतीय रिजर्व बैंक ने यह सुनिश्चित किया है कि जो खाताधारक मोबाइल बैंकिंग सेवा का लाभ लेना चाहते हैं तो उन्हें 2 way authenticity प्रणाली का प्रयोग करना पड़ेगा। जिस प्रकार एटीएम की सहायता प्राप्त करने के लिए डेबिट कार्ड तथा एटीएम पिन की आवश्यकता होती है ठीक उसी प्रकार मोबाइल बैंकिंग सेवा का लाभ लेने के लिए सबसे पहले खाताधारक के पास एक रजिस्टर मोबाइल नंबर तथा दूसरा MPIN का होना आवश्यक है। आरबीआई द्वारा 2 way authenticity का प्रयोग करना अनिवार्य है, अन्यथा वह मोबाइल बैंकिंग सुविधा का उपयोग नहीं कर सकेगा। 

MPIN कैसे प्राप्त करें?

यदि खाताधारक पहली बार अपना सेविंग अकाउंट खोलने पर मोबाइल बैंकिंग का ऑप्शन सुनता है तो उसे बैंक की तरफ से एक वेलकम किट प्राप्त होती है जिसके अंदर मोबाइल बैंकिंग यूजर आईडी तथा एमपिन नंबर होता है। परंतु अगर खाताधारक ने पहले से ही सेविंग अकाउंट खोल रखा है तथा उस समय उसने मोबाइल बहन का ऑप्शन नहीं चुना है तो वह निम्नलिखित प्रकार से अपना एमपिन नंबर प्राप्त कर सकता है-:

  • बैंक शाखा द्वारा एमपिन नंबर प्राप्त करना

यह एक सरल प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया में केवल  खाताधारक को अपने बैंक शाखा में जाना है तथा बैंक खाता धारक को मोबाइल बैंकिंग एक्टिवेशन फॉर्म देगा खाताधारक को इसमें संबंधित जानकारियों को ध्यान पूर्वक भर कर संबंधित काउंटर पर जमा करा देना है। इसके बाद बैंक आपको मोबाइल बैंकिंग यूजर आईडी तथा एमपिन नंबर देगा। अधिकतर बैंक 1 दिन में ही मोबाइल बैंकिंग यूजर आईडी तथा एमपिन नंबर दे देंगे अन्यथा 48 घंटों के अंदर आपका एमपिन नंबर जनरेट हो जाएगा तथा आप इसे बैंक शाखा से प्राप्त कर सकते हैं।

  • एटीएम द्वारा एमपिन नंबर प्राप्त करना

इसके लिए खाता धारक को अपने बैंक के एटीएम पर ही जाना होगा। एटीएम पर जाने के बाद डेबिट कार्ड के सहायता से एटीएम को इंसर्ट करना होगा और इसके बाद स्क्रीन पर दिखाए हुए ऑप्शंस में से मोबाइल बैंकिंग ऑप्शंस को चुनना होगा यदि मोबाइल बैंकिंग ऑप्शन नहीं लिखा हो तो अनय सेवा पर क्लिक करना होगा तथा अवश्य ही आपको मोबाइल बैंकिंग मैन्यू दिख जाएगा जिसमें आपको मोबाइल बैंकिंग रजिस्ट्रेशन ऑप्शन का चुनाव करना है तथा इसके बाद एमपिन नंबर को सेट करना है। ध्यान रहे आपका एमपी नंबर आपके रजिस्टर मोबाइल पर आएगा ना कि आपको एटीएम में प्राप्त होगा। अतः इस एमपिन नंबर को याद रखें।

इस आर्टिकल में हमने आपको MPIN से संबंधित जानकारी दी है। उम्मीद करते हैं आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा।

Latest Post-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *