NATO Full Form in Hindi-नाटो क्या है?

NATO Full Form-आज संपूर्ण विश्व के लिए रूस और यूक्रेन में हो रही युद्ध की घटना को देखते हुए बहुत बड़ी चिंता का विषय सभी देशों के लिए बना हुआ है। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद भविष्य में कोई इस तरह की घटना वापस से ना हो इन्हीं सब से छुटकारा पाने के लिए कई देशों ने मिलकर एक संगठन का गठन किया था। उसका नाम संयुक्त राष्ट्र संघ था। इस संगठन को पावर देने के लिए एक मजबूत सैन्य संगठन की स्थापना की गई थी उस संगठन का नाम nato रखा गया। 

आज बहुत से लोगों को नाटो के विषय में जानकारी नहीं है इसीलिए हम आपको आज इस पोस्ट के माध्यम से नाटो के विषय में जानकारी देने जा रहे हैं। नाटो का इतिहास क्या है, नाटो के अंतर्गत कौन-कौन से देशों को शामिल किया गया है। इन सभी का वर्णन आपको इस पोस्ट में देने वाले हैं, आइए जानते हैं नाटो फुल फॉर्म इन हिंदी में जानकारी…

NATO full formNATO क्या है?

नाटो एक ऐसी सैन्य संगठन शक्ति है जो कि इसके अंतर्गत शामिल होने वाले सभी देशों पर अगर किसी प्रकार की मुसीबत प्राप्त होती है तो इस सैन्य संगठन पावर के द्वारा उसको पूरी मुसीबत में मदद दी जाती है। nato संगठन के अंतर्गत सभी सैन्य संगठनों को मजबूत पावर देने के लिए इंटरनेशनल ट्रेनिंग भी दी जाती है। नाटो संगठन की स्थापना 4 अप्रैल सन 1949 में की गई थी। 

नाटो सैन्य संगठन के द्वारा सभी सैनिकों को हर बुरी से बुरी मुसीबत में निबटने के लिए सत्ता के आदेश पर वह सभी खड़े तैयार होते हैं। नाटो को उत्तरी अटलांटिक एलियंस के नाम से भी जाना जाता है। नाटो संगठन के अंतर्गत 30 देशों को शामिल किया गया है।

आखिर क्यों की गईनाटोकी स्थापना?

नाटो की स्थापना करने की मुख्य वजह थी कि जब सन 1945 में दूसरा विश्व युद्ध खत्म हो गया था। उस समय में विश्व युद्ध के समाप्त होने पर दो महा शक्तियों का जन्म हुआ था। उनमें संयुक्त राज्य अमेरिका और सोवियतसंघ के प्रमुख शक्तियां थी। भविष्य में इस तरह का कोई अन्य युद्ध ना हो इसीलिए यूरोप में संभावित परिस्थितियों को देखते हुए ब्रिटेन, फ्रांस, बेल्जियम, नीदरलैंड आदि देशों के द्वारा एक संधि की गई थी।

उस संधि को नाटो के नाम से ही जानते हैं। इस संधि अर्थात इस संगठन के निर्माण के दौरान ही निर्णय लिया गया था। जब भी कोई बाहरी ताकत अगर नाटो में शामिल हुए किसी भी देश पर हमला करता है तो सभी देश एकजुट होकर सामूहिक रुप से सैनिक सहायता सामाजिक आर्थिक सहयोग एक दूसरे को प्रदान करेंगे।

Nato फुल form इन हिंदी

नाटो फुल फॉर्म हिंदी में उत्तरी अटलांटिक संधि है आज वर्तमान समय की अगर बात की जाए तो नाटो के सदस्य देशों की संख्या 30 मानी जाती हैं। नाटो का फुल फॉर्म इंग्लिश में North Atlantic Organisation है।

Read Also-India Full Form

“Nato” में शामिल होने की शर्त

नाटो में शामिल होने के लिए जब नाटो संधि की शुरुआत की गई थी तो नाटो संधि के अनुच्छेद 10 के सदस्य बनने के लिए इसमें विश्व के सभी देशों को एक ओपन इनविटेशन दिया गया है। इसके मुताबिक अगर कोई भी यूरोपीय देश जो उत्तरी अटलांटिक क्षेत्र की सुरक्षा को सही रखना चाहता है या फिर बढ़ाना चाहता है वह इस संगठन का सदस्य बन सकता है वैसे नाटो का सदस्य बनने के लिए यूरोपीय देश का होना भी जरूरी है।

“Nato” संगठन का उद्देश्य

नाटो के मुख्य उद्देश्य के मुताबिक सभी नाटो सदस्य देश अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित बना सकते हैं लेकिन युद्ध के बदलते हुए हालातों को देखते हुए इस उद्देश्य को भी बढ़ा दिया गया और नाटो के द्वारा निर्णय लिया गया था कि सभी नाटो सदस्य देश पर आतंकवाद साइबर हमले और सामूहिक विनाश के हथियारों से अगर कोई हमला करता है तो नाटो के द्वारा उसको सुरक्षित और संरक्षित किया जाता है।

Conclusion

आज हमने इस पोस्ट के द्वारा आप सभी को ” Nato full form in hindi”  के बारे में जानकारी बताई है हमें उम्मीद है कि आपको जो हमने पोस्ट में जानकारी दी है वह जरूर पसंद आई होगी। और इस पोस्ट को अधिक से अधिक लाइक शेयर भी कर सकते हैं और कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके भी बता सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.